उत्तराखंड में हुई बारिश से मैदानी इलाकों में गर्मी से राहत, लेकिन पहाड़ों में मचा हाहाकार

उत्तराखंड के पहाड़ो में हुई बारिश ने जमकर तांडव मचाया जिसमे मलबे में दबकर एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि पांच गांवों की कई नाले खेत मलबे से श्रतिग्रस्त हो गए। तो वही कुमाऊँ की बात करे तो अल्मोड़ा जिले में चौखुटिया से सात किमी दूर खीड़ा इलाके में बादल फटने से एक व्यक्ति लापता बताया जा रहा है, जो बादल फटते वक्त बैलों को बांधने गौशाला गया हुआ था। अभी तक तीन गोशालाएं बह जाने की खबर आई है।

गांव के एक व्यक्ति की 15 बकरियां, जबकि अन्य के नौ खच्चरों के लापता होने की भी सूचना है।तो वही चमोली जिले में हुई बारिश के दौरान गैरसैंण ब्लॉक के लामबगड़ गांव में बादल फटा। यहां गांव की कई खेत नाले यातायात से जोड़ने वाली सड़क भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है। फिलहाल उत्तराखंड में मौसम विभाग के अनुसार बारिश की संभावना जताई गई है, तो वहीं मैदानी इलाकों में बढ़ती गर्मी से लोगो को राहत जरूर मिली। जहाँ आसमान में काले बादल छाए हुए हैं, तो वही पहाड़ के कुछ इलाके जहां कई दिनों से जंगलों में आग लग रही थी वहां पर मौसम के बदलते रुख से जंगलों में आग लगने में कभी आ सकती है, लेकिन जिस तरह से मॉनसून आने से पहले बादल फटने की घटना सामने आई है उससे ऐसा लगता है कि आने वाले समय में बादल फटने की घटना ने ग्रामीणों को चिंता में डाल दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami