शौर्य हेलमेट पहने होते तो यूं नहीं छोड़ जाते अपने माता पिता को अकेले 

0
29

 

डबल हेलमेट पहनना क्यों जरूरी है जिसे हाई कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया था और उसे लागू करने के लिए पुलिस को सख्त निर्देश किए थे। पुलिस ने कोशिश की इसे सख्ती से लागू करें।

कोर्ट के आदेश के अगले दिन पुलिस ने डबल हेलमेट नहीं पहनने वालों के जमकर चालान काटे। पुलिस की इस कार्रवाई से लग रहा था कि इसका सख्ती से पालन किया जा रहा है। लेकिन कुछ दिनों से पुलिस की ढील ने बिना हेलमेट करने वालों की तादाद बढ़ा दी। और इसी का खामियाजा एक घर के एकलौते पुत्र को उठाना पड़ा।

आज सुबह हरिद्वार बाईपास के पास बाइक सवार दो लोगों का एक्सीडेंट हुआ। जिसमें पीछे बैठे युवक की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार पीछे बैठे युवक ने हेलमेट नहीं पहना था जिसके कारण उसके सिर में काफी गंभीर चोट आई जिससे उसकी मौत हो गई । जबकि बाइक सवार दूसरा युवक भी गंभीर रूप से घायल है। उसका इलाज इंद्रर्श अस्पताल में चल रहा है

ग्राफिक एरा में पढ़ने वाले 2 छात्र साहिल और शौर्य बाइक से दोस्त की बर्थडे पार्टी मनाने मालदेवता जा रहे थे अचानक उन्हें रिस्पना पुल में पुलिस दिखाई दी तो उन्होंने  अपनी योजना बदल दी और वापस लौटने लगे और करीब 8:30 बजे कारगी चौक पहुंचे।

 

इस दौरान  आगे चल रहे  टेंपो के चालक ने अचानक ब्रेक लगा दिया तो साहिल ने भी बाइक का बड़ी तेजी से ब्रेक लगाया और पीछे बैठा शौर्य एकदम से उछलकर टेंपो से टकराया और नीचे सड़क पर गिर गया। उसके बाद लोगों ने उसे इंद्रेश अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शौर्य अपने माता पिता का इकलौती संतान थी 4 महीने पहले ही उसने ग्राफिक एरा में एडमिशन लिया था। शौर्य के परिजनों ने पोस्टमार्टम से इंकार कर दिया है, इसलिए इस मामले में कोई कार्रवाई भी नहीं। पुलिस ने पंचायत नामा कर शव परिजनों को सौंप दिया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here