अलविदा कह गए बीजेपी के अरुण

0
26

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली नहीं रहे। लंबी बीमारी के बाद शनिवार को दिन के 12:07 मिनट में उनका निधन हो गया। वह 66 वर्ष के थे। बीते कुछ वक्त से दिल्ली स्थित एम्स में इलाज चल रहा था। उनकी हालत लगातार नाजुक बनी हुई थी। इसके बाद उन्हें लाइव सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बीते गुरूवार को उनका हाल जानने एम्स पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने जेटली की तबियत के बारे में डॉक्टरों से पूछा और उनके परिजनों से बातचीत की थी। जेटली को देखने के लिए  देशभर से नेताओं का आना जारी रहा। मुखर्जी से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी भी अपनी बेटी प्रतिभा आडवाणी के साथ एम्स पहुंचे और उन्होंने जेटली के स्वास्थ्य की जानकारी ली थी।

मंगलवार को केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रकाश जावड़ेकर भी जेटली का हालचाल जानने पहुंचे थे। इनके अलावा बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी एवं हरसिमरत कौर बादल और भाजपा महासचिव अरुण सिंह भी एम्स पहुंचे। 9 अगस्त, 2019 को सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी महसूस होने के बाद उन्हें अस्पताल लाया गया था।‍

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here