टोक्यो अलोम्पिक 2020 पर मंडरा रहे है संकट के बादल

0
122

कोरोना वायरस ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है और इसी के चलते 24 जुलाई को होने वाले टोक्यो ओलंपिक पर काले बादल मंडरा रहे हैं ।  अगर यह वायरस समय से पहले ठीक कर लिया गया तो  ओलंपिक अपने तय समय पर ही होंगे। और अगर इसकी स्थिति ऐसे ही बरकरार रही तो इतना तय है कि ओलंपिक की तारीख में बदलाव हो सकता है या फिर अगले साल इसको कराया जा सकता है।

दरअसल ,कुछ देश  अपने खिलाड़ियों को ओलंपिक में भेजने के लिए पूरी तरह से पीछे हट गए है। सोमवार को कनाडा और ऑस्ट्रेलिया ने कहा कि अगर टोक्यो में ओलंपिक तय समय यानी 24 जुलाई से ही शुरू होगा तो वो अपने खिलाड़ियों को नहीं भेजेंगे. कनाडा ने कहा है कि सेहत और सुरक्षा के सामने उनके लिए कुछ भी अहम नहीं हैं.

अब आप देख सकते हैं कि 2 देशों के मना करने के बाद  यह साफ हो गया है कि और भी देश ओलंपिक में जाने के इच्छुक नहीं होंगे अगर यह बीमारी काबू में कर ली जाती है उसके बाद ही ओलंपिक अपने तय समय पर हो पाएगा

अभी फिलहाल कई देश इसकी वैक्सीन तैयार कर रहे हैं और यह कहा जा रहा है कि जून तक इसकी वैक्सीन तैयार कर ली जाएगी लेकिन डब्ल्यूएचओ द्वारा 1 साल का समय इसकी दवाई बनाने का निर्धारित समय रखा है।  अभी किसी भी तरह की दवाई ना होने के चलते 2020 ओलंपिक जो जापान की राजधानी टोक्यो में होने वाला है उस पर संकट आ गया है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here