चाहे कर दो चालान या डाल दो जेल में हम तो निकलेंगे घर से बाहर,देखे तस्वीरे…

0
200

देशव्यापी 21 दिन के लॉक डाउन के दौरान उत्तराखंड सरकार ने लोगों को बड़ी सहूलियत देते हुए जरूरी सेवाओं और सामानों की दुकानों को 3 घंटे खोलने का आदेश दिया है । लेकिन सरकार के इस फैसले का लोगों ने जमकर उल्लंघन किया। कई लोगों पर पुलिस ने मुकदमे भी दर्ज किए और जेल में भी डाला  बावजूद उससे लोग कोई सबक नहीं ले रहे हैं। जिससे ऐसा लगता है कि उन्हें जेल भी डाल दिया जाए तो वह सुधरने वाले नहीं है

बात करें देहरादून की तो यहां सुबह 7 बजे से लेकर सुबह 10 बजे के समय के दौरान काफी संख्या में लोग सड़क पर उतर गए जिसके कारण कई जगह ट्रैफिक जाम लग गया। तो कहीं कई दुकानों में लोगों का तांता देखने को मिला ।  लोगों के इस रवैये से पुलिस और प्रशासन दोनों परेशान रहे। जिसके बाद सरकार की तरफ से लॉक डाउन को और सख़्त करने का प्लान बनाया गया ।

पिछले 3 दिनों से सरकार ने 3 घंटे के लिए जरूरी सामानों की दुकानों को खोलने का आदेश दिया था जिसे 27 मार्च से बढ़ाकर 6 घंटे का कर दिया। यानी सुबह 7:00 बजे से 1:00 बजे तक जरूरी सामानों और सेवाओं की दुकाने खोलने जा सकेंगे। लेकिन इसके साथ कुछ और पाबंदियों को भी जोड़ा दिया गया। जिसके तहत सड़कों पर फोर व्हीलर वाहनों को सड़को पर उतरने से बैन कर दिया गया साथ ही टू व्हीलर पर एक सवारी को ही अनुमति दी गई।

राजधानी की सबसे बड़ी सब्जी मंडी निरंजनपुर मंडी को भी बंद कर दिया गया। और चिन्हित राशन के बड़े थोक विक्रेता को 2 घंटे दुकान की खोलने की छूट दी गई । लेकिन इन सबके बावजूद आज यानी 27 मार्च को सड़कों पर लोगों का हुजूम कम नहीं हुआ।
सब मालूम होने के बावजूद  लोगों ने सड़कों पर फोर व्हीलरऔर दो सवारी के साथ दुपिया वाहन दौड़ाये।
जिस पर एक बार फिर पुलिस को इन पर लगाम लगाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।

 

सरकार के नए फैसले के बाद भी आज सड़कों पर जो लोग 4 पहिया वाहन से निकले उनमें से अधिकतर लोगों को सरकार के नए फैसले की जानकारी थी लेकिन उन्होंने बारिश को अपनी मजबूरी से जोड़ दिया। बहराल अब सरकार इस पर  और सख्त नजर आएगी या फिर छूट मिलती रहेगी ये आने वाले दिन ही पता चलेगा

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here