कोरोना वायरस: सावर्जनिक स्थलों पर थूकने पर होगी 6 महीने की जेल

0
152
कोरोना वायरस को नष्ट करने के लिए शरीर विकास विभाग ने कमर कस ली है शहरी विकास विभाग ने सावर्जनिक स्थलों पर गंदगी फैलाने वालों पर एंटी लिटरिंग एन्टी स्पिटिंग एक्ट के तहत कार्रवाई के निर्देश दे दिए हैं एक्ट के तहत दोषी पाए जाने वाले पर अधिकतम ₹5 हज़ार और 6 महीने जेल का प्रावधान है
प्रदेश में 2016 से यह एक्ट लागू है इसके तहत सावर्जनिक स्थलों पर गंदगी फैलाने वालों पर सख्ती बरती जाएगी। लेकिन निकायों ने कभी इस पर गंभीरता से अमल नहीं किया । कोरोना से निपटने के लिए शहरी विकास निदेशालय ने सभी निकायों को इसे सख्ती से लागू करने के आदेश दिए हैं
इसके तहत मुख्य नगर अधिकारी सहायक नगर अधिकारी स्वास्थ्य अधिकारी सफाई निरीक्षक के साथ ही पुलिस को भी गंदगी फैलाने वाले व्यक्ति का चालान करने का अधिकार होगा दोषी पाए जाने पर अधिकतम 5 हज़ार का जुर्माना और 6 महीने की जेल का प्रावधान है जो एक साथ दी भी जा सकती है।
गंदगी की श्रेणी :धूल मिट्टी , मानव पशु मल मूत्र, पत्ते घास थूकना आदि। और अगर निकायों को किसी तरह की फंड की दिक्कत आए तो उसके लिए भी इंतजाम किए जा चुके हैं निदेशक विकास वीके सुमन के मुताबिक 14वें वित्त आयोग व बोर्ड बजट का इस्तेमाल इस दौरान किया जा सकता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here