कोरोना वायरस:पर्यटन कारोबार को लगभग 500 करोड़ का हुआ नुकसान

0
232
कोरोना वायरस को और फैलने से रोकने के लिए राज्य सरकार ने उत्तराखंड में विदेशी व घरेलू पर्यटकों के रुकने पर पूरी तरह रोक लगा दी है। अगले आदेशों तक राज्य के सभी तरह के पर्यटकों को होटल-गेस्ट हाउस आदि में बुकिंग नहीं उपलब्ध होगी।
शुक्रवार को मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अनुमति मिलने के बाद सरकार ने उत्तराखंड एपिडेमिक डिजीज कोविड-19 रेगुलेशन 2020 के तहत राज्य में कहीं भी विदेशी और भारतीय पर्यटकों के रुकने पर रोक लगाने के आदेश कर दिए है । इसके साथ ही तीर्थ नगरी हरिद्वार, ऋषिकेश समेत प्रदेश के दूसरे सभी तीर्थ व पर्यटन स्थलों पर भी पर्यटकों की होटल, गेस्ट हाउस आदि में बुकिंग नहीं की जाएगी।
तो वही पर्यटकों के वाहनों को इसमें जरूर छूट मिली है अब उनकी गाड़ियों को प्रदेश में प्रवेश और प्रदेश से होकर गुजरने में कोई अड़चन नहीं आएगी, सिर्फ राज्य में वे नहीं रुक सकते है क्योंकि उस पर रोक लगा दी गई है। तो वही सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को भी आदेश जारी कर दिए हैं। इस कोरोना वायरस से उत्तराखंड में पर्यटन कारोबार को लगभग 500 करोड़ रुपये का खासा नुकसान हो चुका है।
इसके साथ ही अप्रैल में प्रदेश में चारधाम यात्रा शुरू हो जाएगी। 26 अप्रैल को गंगोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा शुरू होती है
।अगर यह हालात ऐसा ही रहे तो इस साल यात्रा पर इसका असर पड़ सकता है। जिससे पर्यटन कारोबारियों को आर्थिक रूप से बड़ा झटका लगेगा।
पिछले साल आए यात्री
तीर्थ स्थल संख्या(लाख में)
गंगोत्री 05.30
यमुनोत्री 04.65
केदारनाथ 10.00
बदरीनाथ 12.45
हेमकुंड साहिब 02.40
पिरान कलियर 07.75

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here