विदेश से आये युवक के पीछे रात भर दौड़ती रही पुलिस

0
49
प्रशासन  कोरोना को लेकर अब इतना मुस्तैद हो गया है की अब वह विदेश से आने वाले लोगो पर कड़ी  निगरानी रख रहा है कुछ एक मामल रूड़की से आया जहां  पुलिस और स्वास्थ्य प्रशासन  जर्मनी से रुड़की पहुंचे युवक की सूचना पर रात में ही दौड़ पड़ीं। युवक अपने गणेशपुर स्थित घर आया था। देर रात उसे पकड़कर  सिविल अस्पताल ले जाया गया। जहां चेकअप के बाद उसे अपने रिश्तेदार के  घर ही ठहराया गया है। अब उस पर निगरानी रखी जा रही है।

कोरोना वायरस के बढते मामले के बाद  सिविल अस्पताल प्रशासन अलर्ट पर है  जर्मनी से पहुंचे युवक के मिलने के बाद सिविल अस्पताल प्रशासन ने युवक के हर मूवमेंट की जानकारी जुटाई।

इसके बाद सिविल अस्पताल और प्रशासन की टीम उसे  सिविल अस्पताल के कोरोना आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है  जहां उसका मेडिकल टेस्ट किया गया । इसके बाद देखभाल के लिए  गणेशपुर स्थित उसके उसके परिचित घर  पर ठहरा दिया गया।

अब तक कोरोना के 19 सैंपल भेजे गए 

कोरोना वाइरस के रोकथाम के लिए  मुख्य सचिव की अध्यक्षता में स्टेट टास्क फोर्स बनाई गई है । स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक पूरे प्रदेश से 19 सैंपल परीक्षण के लिए भेजे जा चुके है करीब अब  तक कुल 51 सैंपल जांच के लिए भेजे गए, जिनमेें से एक में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है  और 22 के परिणाम का इंतजार किया जा रहा है।

मंगलवार से स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के बढते प्रकोप को  देखते हुए हैल्थ बुलेटिन जारी किया। जिसके मुताबिक चीन सहित अन्य देशों से 722 लोग प्रदेश में प्रवेश हुए . इनमें से करीब 381 लोगाें को  28 दिन  होगये है । इनके अलावा और  लोगाें को भी निगरानी में रखा गया है। मंगलवार को हल्द्वानी लैब को परीक्षण के लिए कुल 19 सैंपल भेजे गए है। जिनमे से  16 लोगों को निगरानी में रखा गया है और अभी तक पुरे  प्रदेश में 21 लोग ऐसे पाए गए हैं। जिनमें कोरोना से मिलते जुलते लक्षणका अंदेशा है.  इन सभी को निगरानी मेें रखा गया है। कोरोना वायरस को लेकर  स्वास्थ्य विभाग अब आज प्रेस कांफ्रेंस कर सकता है .

परीक्षण में लग रहा अधिक समय
हैल्थ बुलेटिन से साफ़ तौर से लग रहा है की कोरोना संक्रमण की जांच में  काफी समय  लग रहा है। मंगलवार को भी 19 सैंपल भेजे गए जबकि पहले के 22 सैंपल के अभी तक रिपोर्ट  नहीं आई है .

कोरोना वायरस की जांच की सुविधा प्रदेश में अभी तक सिर्फ एक ही जगह उपलब्ध है। हल्द्वानी में ही अब तक सभी  सैंपल भेजे जाते है . और इसी  के चलते  एक-एक सैंपल का नतीजा कम से कम तीन दिन बाद आ रहा  है। अब स्वस्थ्य विभाग ने जल्दी रिपोर्ट के लिय  एम्स ऋषिकेश और दून मेडिकल कॉलेज को भी जांच की अनुमति देने का आग्रह केंद्र से किया गया है।  केंद्र सरकार  द्वारा   निजी लैबों को भी परीक्षण की अनुमति मिल गई है  राज्य में अधिकारिक रूप से केंद्र से यह जानकारी न मिलने की बात की जा रही है।

हवाईअड्डों पर जिनकी जांच की गई                43508
क्वारंटाइन बैड जो चिह्नित किए गए                 801
आइसोलेशन बैड जो चिह्नित किए गए             337

अस्पताल                    मंगलवार को जो सैंपल जो लिए गए
देहरादून ओएनजीसी                 2
ऋषिकेश एम्स                        2
देहरादून सैनिक अस्पताल           4
देहरादून इंद्रेश अस्पताल            2
सिविल अस्पताल रुड़की            1
मेला अस्पातल हरिद्वार              2
ऊधमसिंह नगर आईएसडीपी       6
कुल                                  19

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here