फूलों की घाटी पर्यटकों के लिए खुली

0
20

विश्व प्रसिद्ध फूलों की घाटी शनिवार को पर्यटकों के लिए खोल दी गई। करीब 5 महीने तक फूलों की घाटी खुली रहेगी. पहले दिन 27 पर्यटक फूलों की घाटी पहुँचे। जो 31 अक्तूबर तक बंद कर दी जाएगी। शनिवार को वन क्षेत्राधिकारी बृजमोहन भारती ने हरी झंडी दिखाकर पर्यटकों को फूलों की घाटी के लिए रवाना किया। कुल 27 लोगो मे से 5 विदेशी जबकि 22 भारतीय है

तो वहीँ पहले दिन पर्यटकों से 6500 का राजस्व मिला। भारतीय पर्यटकों के लिए 150 व विदेशी पर्यटकों के लिए 600 रुपये का प्रवेश शुल्क रखा गया है। हर पल की जानकारी के लिये घाटी मे ट्रैप कैमरे भी लगाए गए हैं। यात्रियों को गोविंद घाट से पुलना तक छोटे वाहन से जाना होगा। बताया जा रहा है कि घाटी तक जाने के लिए रास्ता तैयार कर लिया गया है। पिछले वर्ष पहले दिन 40 पर्यटक फूलों की घाटी गए थे।

घाटी में पांच सौ से अधिक प्रजातियों के फूल अलग-अलग समय पर खिलते हैं। यहां पोटोटिला, प्राइमिला, एनिमोन, एरिसीमा, एमोनाइटम, ब्लू पॉपी, मार्स मेरी गोल्ड, ब्रह्म कमल, फैन कमल जैसे कई फूल खिले रहते हैं। घाटी में दुर्लभ प्रजाति के जीव जंतु, वनस्पति व जड़ी बूटियों का संसार बसता है।

जुलाई प्रथम सप्ताह से अक्तूबर तृतीय सप्ताह तक कई फूल खिले रहते हैं। विभिन्न प्रकार के फूल होने पर यहां तितलियों का भी संसार है। इस घाटी में कस्तूरी मृग, मोनाल, हिमालय का काला भालू, गुलदार, हिम तेंदुआ भी दिखता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here